देश को जरूरत है आपकी !

आप चाहे नौकरी पेशा हैं अथवा व्यापारी- व्यवसाई. विद्यार्थी हैं या फिर वकील ,शिक्षक,सी. ए.,डॉक्टर जैसे प्रोफेशनल . अमीर अथवा गरीब .गाँव में रहते हैं या शहर में. यदि आपमें भी देश के लिए कुछ करने की ललक है ,भ्रष्टाचार, अराजकता, पुलिस राज और माफिया राज के खिलाफ आवाज उठाने की हिम्मत है तथा सही अवसर और मंच की तलाश है तो हमारी आँख ,नाक,कान बनें . जनबिम्ब आपकी आवाज बन जायेगा.आप अपना कार्य करते हुए भी हमारे रिपोर्टर बन कर समाज के लिए कुछ अच्छा करने के सपने को साकार कर सकते हैं .प्रतिष्ठा और नाम कमा सकते हैं . तो फिर देर कैसी ? आज ही हमारे समाचार प्रभारी से संपर्क करें . E-mail: janbimb@gmail.com

----------------------------------------------------------------------------------------------------

जनबिम्ब न्यूज़ कंट्रोल रूम
अक्सर आम आदमी का वास्ता माफिया, असामाजिक तत्वों, भ्रष्ट नौकरशाही अथवा गुंडा तत्वों से पड़ जाता है। कई बार तो वे इनके शिकार हो जाते हैं। सामान्यतः लोग इनके हाथों सताए, ठगे या उत्पीडि त होने के बावजूद चुप रहने में ही अपनी भलाई समक्षते है। क्योंकि उन्हें इस बात का आभास हो जाता है कि उनकी सुनवाई तो दूर की बात है, शिकायत करने से उल्टे उन्हीं पर कहर का पहाड टूट सकता है।लेकिन अब मन ही मन घुटते रहने की जरूरत नहीं। आप अपनी या अपने किसी परिजन अथवा परिचित की व्यथा गाथा हमें बताएं। हमारे खोजी पत्रकारों की टीम हर तरह के गोरख धन्धे का भंडाफोड करने को तत्पर है। अपने क्षेत्र, राज्य या सामाजिक दायरे में भी किसी खतरनाक साजिश, बड े पैमाने पर भ्रष्टाचार या असामाजिक गतिविधि की सुगबुगाहट आपको होती है तो उससे भी हमें अवगत कराएं।अगर आप चाहेंगे तो आपका नाम गुप्त रखा जाएगा। कौन जाने आपके द्वारा दी गई खबर और जनबिम्ब टीम की खोजबीन की बदौलत हजारों लोगों को न्याय मिल जाए अथवा कुछ सफेदपोश बेनकाब हो जाएं।

Jan Bimb News Control Room

Often common man comes across mafia, anti social elements, corrupt bureaucrat or criminal. Sometimes they become victim. Usually people, inspite of victimized or cheated prefer to remain silent because they come to realize that instead of being listened they would be subjected to further torture on complaining.But now, there is no need to suffer further. You can convey own or your family’s or known person’s suffering to Jan Bimb. Our team of investigative correspondent are ready to expose all forms of scandals. Please let us know any dangerous planning, high level corruption or antisocial activities in your region, state or social circle.If you desire your name would be kept confidential. Who knows through your news & investigations by Jan Bimb team thousands get justice or some white collared are unmasked.
-----------------------------------------------------------------------------------------
हमारी कार्यप्रणाली

नाहक ही सनसनी फैलाने में हमारा विश्वास नहीं है। हमारे खोजी संवाददाताओं की टीम किसी भी मामले की तह तक जा कर, समूचे प्रणाम जुटा कर, उन्हीं के आधार पर अपनी रिपोर्ट तैयार करती है। जनबिम्ब चौतरफा कार्रवाई करता है। सबसे पहले भंडाफोड करना और फिर संबंधित विभाग/अधिकारी/प्रतिष्ठान/व्यक्ति विशेष को सूचित करना। इस पर भी यदि संबद्ध लोगों के कानों पर जूं नहीं रेंगती है तो समूचे मामले को प्रिंट व इलैक्ट्रॉनिक मीडिया के जरिए उजागर करने तथा जरूरी हो जाने पर कानून व अदालत की मदद भी जनबिम्ब ले सकता है।


जनबिम्ब पत्रकारिता की सीमाओं के भीतर रह कर ही अपना काम करता है। हम अपने इस सामाजिक दायित्व के निर्वाह के लिए एन.जी.ओ. या रजिस्टर्ड सोसाइटी जैसी संस्था खड ी करके चंदा वसूलने अथवा सरकारी अनुदान लेने में विश्वास नहीं रखते। हमारे पाठकों/दर्शकों का प्यार तथा विज्ञापनदाताओं का सहयोग ही हमारे मिशन की कामयाबी के लिए पर्याप्त है

Our Working Style

We don’t believe in creating sensation just for the sake of it. Our team of investigative correspondents bases their report only after going to the root of any matter & on solid evidences. Jan Bimb works in four directional basis. First is to expose & then intimating the concerned department/official/ organization/concerned person. Even then if no action is taken by the concerned people then the entire matter is raised through print and electronic media and if needed Jan Bimbcan take the help of law & court.

Jan Bimb works within the limits of journalism. Its team of investigative correspondent is led by renowned print & TV journalist Lokesh Shrivastav, Editor-in-chief of Jan Bimb.

For sustenance of this social responsibility, we don’t believe in raising NGO or registered society like organizations or accepting contribution or government aid.
The love of our readers/audience & support of the advertisers is sufficient for the success of our mission.
-----------------------------------------------------------------------------------------
भंडाफोड़ किसका?
राष्ट्रीय सांध्य दैनिक ' जनबिम्ब ' एक मीडिया संस्थान मात्र ही नहीं बल्कि एकसमान विचारधारा वाले लोगों का साझा मंच है। जिनका मकसद है - भ्रष्ट्राचार ,माफियाराज व पुलिसराज के पूरी तरह समाप्त होने और देश में अमन -चैन स्थापित होने तक अपना अभियान जारी रखना। दरअसल यह उन लोगों का भंडाफोड करने का एक अभियान है जो अपने पद का दुरूपयोग कर गरीब जनता के हिस्से के धन व सुविधाओं को बीच में ही निगल जाते हैं, जो समाज की दृष्टि में इज्जतदार हैं मगर उनके कारनामे समाज और देश के लिए घातक हैं, जो गुंडागर्दी व राजनीतिक ताकत के दम पर लूट-खसोट कर ÷जिसकी लाठी उसी की भैंस' कहावत को चरितार्थ कर रहे हैं। जो अपने स्वार्थों की पूर्ति के लिए माफिया के रूप में संगठित हैं या फिर ऐसे व्यक्ति, अफसरशाह, राजनीतिज्ञ, सरकारी निकाय/विभाग/संस्थान जो भ्रष्टाचार तथा निरीह जनता के शोषण का पर्याय बन कर रह गए हैं। ' जनबिम्ब ' ऐसे लोगों का भंडाफोड करने में तनिक भी नहीं हिचकता है जो रक्षक के वेश में भक्षक हैं अथवा समाज के लिए कलंक होते हुए भी सफेदपोश बने हुए हैं।


Whose 'Bhandafod' ?

National Evening Daily 'Janbimb' is not only a media organisation but a platform of people with common awareness & thinking. They have only one objective – to keep on their struggle for complete removal of corruption, mafia-raj, police-raj etc till peace is restored in the country.

'Janbimb' is a movement of exposing those people who by misusing their position swallow the rightful share of wealth & facilities of poor people, those who are respectful in the view of the society but their deeds are dangerous to society & country, those involved in loot by virtue of their political & muscle
power. Those for fulfilment of selfishness are organized as mafia or those people, bureaucrat, politician,
government department/organisation that have become synonymous to corruption & harassment of helpless citizen.

'Janbimb'
doesn’t hesitates even a bit in exposing those who in disguise of guardians are
predators or those being culprits of the society show off as white collared.